माँ बगलामुखी   

मूल मंत्र

हल्रीं बगलामुखी सर्वदुष्टानां वाचं मुखं पदं स्तम्भय जिहवां कीलय बुद्धिं विनाशय हल्रीं स्वाहा |

बगलामुखी मंत्र

हल्रीं बगलामुखी देव्यै सर्व दुष्टनाम वाचं मुखं पदम् स्तम्भय जिहवां कीलय – कीलय बुद्धिं विनाशय हल्रीं नमः

सुरक्षा कवच का मंत्र

 ह्रीं बगलामुखि सर्वदुष्टानां वाचं मुखं पदं स्तम्भय जिह्वां कीलय बुद्धिं विनाशय हृीं ऊँ स्वाहा |

हां हां हां ह्रीं बड़ा कवचाय हुम

शत्रुनाशक मंत्र

बगलामुखी देव्यै ह्रीं ह्रीं क्लीं शत्रु नाशं कुरु