नौ देवियों के मुख्य मंत्र

नौ देवियों के मुख्य मंत्र नवरात्रों के नौ दिनों में नौ देवियों की पूजा की जाती है-  1.शैलपुत्री, 2.ब्रह्माचारिणी, 3.चन्द्रघंटा, 4.कूष्माण्डा, 5.स्कंदमाता, 6.कात्यायनी, 7.कालरात्रि, 8.मां गौरी, 9.सिद्धिदात्रि है।  इन सभी नौ देवियों का अपना अलग-अलग महत्व हैं। यह मंत्र इस प्रकार से है।  “जय माता दी” शैलपुत्री : ॐ ह्रीं शिवायै नम: ब्रह्मचारिणी : ॐ…

श्री नौबाही देवी मंदिर

श्री नौबाही देवी मंदिर (सरकाघाट हिमाचल प्रदेश) हिमाचल प्रदेश में बहुत से मंदिर हैं जिनमें से नौबाही देवी का मंदिर भी शामिल है । हिमाचल प्रदेश के सरकाघाट से लगभग ४ (4) किलोमीटर की दूरी पर माता श्री नौबाही देवी का भव्य मंदिर श्रद्धालुओं के लिए आस्था का केंद्र बना हुआ है। इस मंदिर में…

इन सभी माताओं का नाम इस प्रकार पड़ा

इन सभी माताओं का नाम इस प्रकार पड़ा। 1.शैलपुत्री – यह माता हिमालय की पुत्री है। इस माता का अवतार सबसे पहला है। जो की सती माता के रूप में भी जानी जाती है। इसलिए इस माता को शैलपुत्री कहा जाता है। 2.ब्रह्मचारिणी – ब्रह्मचारिणी माता ने घोर तपस्या के उपरांत भगवान शिव को प्राप्त किया…

जाने अपनी राशि के बारे में कैसे ?

जाने अपनी राशि के बारे में कैसे ? राशियों के नाम मेष राशि चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ। वृष राशि ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो। मिथुन राशि का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह।  कर्क राशि ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो।…

महाकाल मन्दिर बैजनाथ

ॐ श्री महाकाल मन्दिर जी का धार्मिक महत्व एवं इतिहास ॐ भगवान श्री महाकाल जी ॐ जालन्धर पीठ का यह प्राचीन मन्दिर भगवान शिव को समर्पित है। प्राचीन समय में जालन्धर नामक राक्षश, भगवान शिव का अनन्य भक्त था जिसने अपने कठिन तप से भगवान शिव को प्रसन कर मोक्ष का वरदान माँगा था। परन्तु…

समस्त देवी-देवताओं के गायत्री मंत्र

समस्त देवी-देवताओं के गायत्री मंत्र भगवान गणेश गायत्री मंत्र “ॐ तत्पुरुषाय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो दंति प्रचोदयात्‌”   भगवान शिव गायत्री मंत्र “ॐ तत्पुरुषाय विद्‍महे, महादेवाय धीमहि तन्नोरुद्र: प्रचोदयात्”  भगवान शनिदेव गायत्री मंत्र “ॐ कृष्णांगाय विद्महे रविपुत्राय धीमहि तन्न: सौरि: प्रचोदयात” भगवान सूर्य गायत्री मंत्र ” ऊँ आदित्याय विदमहे दिवाकराय धीमहि तन्न: सूर्य: प्रचोदयात”  माँ लक्ष्मी गायत्री मंत्र…