क्या आप जानते हैं ?

क्या आप जानते हैं ? स्मृतियां …  1. मनु, 2. विष्णु, 3. अत्री, 4. हारीत, 5. याज्ञवल्क्य, 6. उशना, 7. अंगीरा, 8. यम, 9. आपस्तम्ब, 10. सर्वत, 11. कात्यायन, 12. ब्रहस्पति, 13. पराशर, 14. व्यास, 15. शांख्य, 16. लिखित, 17. दक्ष, 18. शातातप, 19. वशिष्ठ दो पक्ष …  1. कृष्ण पक्ष, 2. शुक्ल पक्ष तीन ऋण …  1. देवऋण, 2. पितृऋण, 3. ऋषिऋण चार युग …  1. सतयुग 2. त्रेतायुग 3. द्वापरयुग 4. कलियुग चार धाम …  1. द्वारिका, 2. बद्रीनाथ, 3. जगन्नाथपूरी, 4. रामेश्वरम धाम चार पीठ …  1. शारदा पीठ (द्वारिका), 2. ज्योतिष पीठ (जोशीमठ बद्रीधाम), 3. गोबर्धन पीठ (जगन्नाथपुरी), 4. श्रृंगेरीपीठ चार वेद…

श्री गणपति जी की कहानी

श्री गणपति जी की कहानी श्री गणेशाय नमः एक समय की बात है एक अंधी बुढ़िया माई थी। उसका एक लड़का ओर बहु थी, वे बहुत ही गरीब थे। वह अंधी बुढ़िया प्रतिदिन बहुत ही प्यार से गणेश भगवान् की पूजा-अर्चना किया करती थी। एक बार श्री गणेश जी उसके सन्मुख आकर प्रकट हुए और उस…